अगर आप भी इस मंच पर कवितायेँ प्रस्तुत करना चाहते हैं तो इस पते पर संपर्क करें... edit.kavitabazi@gmail.com

Thursday, January 5, 2012

कुछ तो है तुम में जो वाकई सबसे हटके है

कुछ तो है तुम में जो वाकई सबसे हटके है 


पर इसका पता लगा पाना मेरे लिए मुश्किल है  

शायद मै बहुत पसंद करता हू इसलिए 

या फिर कोई और बात है जिसे मै कह नहीं सकता 

पर इतना तो तय है तुम बहुत ख़ास बन गयी हों मेरे लिए 

जबसे मैंने तुम्हे समझा है जाना है 

यकीन मानो मुझे जिन्दगी जीने का बड़ा मकसद मिल गया है 

10 comments:

  1. जीने का मकसद मिल जाना अच्छी बात है।

    ReplyDelete
  2. सुन्दर रचना ! नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें !

    ReplyDelete
  3. सुन्दर रचना ! नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें !

    ReplyDelete
  4. यकीन मानो मुझे जिन्दगी जीने का बड़ा मकसद मिल गया है
    अच्छी रचना...अंतिम पंक्तियाँ तो बहुत ही अच्छी लगीं.

    ReplyDelete
  5. आप सभी का आभार ,,,,,,,,,,,,

    ReplyDelete
  6. सुन्दर अभिव्यक्ति....शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  7. सुन्दर अभिव्यक्ति....शुभकामनाएं

    ReplyDelete